Muslim Man Ka Aaina

Author: Rajmohan Gandhi
Translator: Arvind Mohan
As low as ₹845.75 Regular Price ₹995.00
You Save 15%
In stock
Only %1 left
SKU
Muslim Man Ka Aaina
- +

स्वस्थ हिन्दू-मुस्लिम सम्बन्धों और भारतीय जनगण के बीच सहिष्णुता के लिए यह ज़रूरी है कि मुसलमान हिन्दुओं के और हिन्दू मुसलमानों के मानस को समझें। यह पुस्तक इसी भावना को लेकर भारत और पाकिस्तान के आठ प्रसिद्ध मुस्लिम नेताओं के जीवन को रेखांकित करती है, और उनके कहे-अनकहे पहलुओं को हमारे सामने लाती है। जिन लोगों के जीवनेतिहास के माध्यम से इस पुस्तक में लेखक ने भारतीय उपमहाद्वीप के मुसलमानों में झाँकने का प्रयास किया है, उनमें ये नाम शामिल हैं : सैयद अहमद ख़ाँ, मुहम्मद इक़बाल, मुहम्मद अली, मुहम्मद अली जिन्ना, फ़ज़लुल हक़, अबुल कलाम आज़ाद, लियाक़त अली ख़ाँ, ज़ाकिर हुसैन।

पुस्तक हमारे मन-मस्तिष्क में बनी मुसलमानों के प्रति उन सभी भ्रान्त धारणाओं को वैचारिक स्तर पर तोड़ती है जिन्हें हम तथाकथित ‘इतिहास’ के रूप में जानते आए हैं। हिन्दू और मुस्लिम समुदाय की मानसिक संरचना में कितनी एकरूपता है और कितनी भिन्नता तथा दोनों ही समुदाय हर पहलू से कितने एक-दूसरे के नज़दीक हैं, पुस्तक हमें विस्तार से बताती है।

‘अंडरस्टैंडिंग दि मुस्लिम माइंड’ अंग्रेज़ी पुस्तक से अनूदित राजमोहन गांधी की यह पुस्तक हमें अत्यन्त विनम्रता से उन ज़िन्दगियों को समझाने का प्रयत्न करती है, जिनके विषय में हम जानते हुए भी बहुत कम जानते हैं।

More Information
Language Hindi
Format Hard Back
Publication Year 2008
Edition Year 2019, Ed. 2nd
Pages 400p
Translator Arvind Mohan
Editor Not Selected
Publisher Rajkamal Prakashan
Dimensions 22.5 X 14.5 X 2.5
Write Your Own Review
You're reviewing:Muslim Man Ka Aaina
Your Rating
Rajmohan Gandhi

Author: Rajmohan Gandhi

राजमोहन गांधी

सन् 1935, नई दिल्ली में जन्मे राजमोहन गांधी एक जीवनीकार और महात्मा गांधी के पौत्र हैं। उनके नाना सी. राजगोपालाचारी (राजाजी) स्वतंत्र भारत के प्रथम भारतीय गवर्नर जनरल और प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। राजमोहन के पिता देवास गांधी दैनिक ‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ के प्रबन्ध सम्पादक थे।

मॉडर्न स्कूल, नई दिल्ली में पढ़े-लिखे राजमोहन एक पत्रकार एवं राजनीतिक विश्लेषक हैं। सेंटर फ़ॉर पॉलिसी स्टडीज़, नई दिल्ली में रिसर्च प्रोफ़ेसर, श्री गांधी ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम और इसके नायकों, भारत-पाक सम्बन्ध एवं मानवाधिकार पर विस्तारपूर्वक लिखा है। वे अमेरिका और जापान में विज़िटिंग प्रोफ़ेसर के पद पर रह चुके हैं, और कनाडा, जापान एवं क्यार्जज रिपब्लिक स्थित विश्वविद्यालयों से मानद उपाधियाँ पा चुके हैं। प्रो. गांधी राज्यसभा के सदस्य भी रह चुके हैं, और जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग के वार्षिक अधिवेशन में भारत सरकार के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर चुके हैं।

प्रो. गांधी द्वारा लिखित उनके दादा महात्मा गांधी की जीवनी ‘द गुड वोटमैन : ए पोर्ट्रेट ऑफ़ गांधी’ सन् 1955 में और उनके नाना चक्रवर्ती राजगोपालाचारी की जीवनी ‘राजाजी :

ए लाइफ’ सन् 1977 में प्रकाशित हुई। भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता ‘सरदार वल्लभभाई पटेल की जीवनी’ और ‘ऐट लाइव्ज: ए स्टडी ऑफ़ द हिन्दू-मूस्लिम एनकांउटर  उनकी प्रमुख कृतियों में सम्मिलित हैं। ‘रिवेंज एंड रिकंसिलिएशन : अंडरस्टैंडिंग साउथ एशियन हिस्ट्री’ उनकी बहुचर्चित कृति है।

‘साहित्य अकादेमी पुरस्कार’ सहित कई पुरस्कारों से सम्मानित राजमोहन गांधी विगत कई दशकों से ‘परिवर्तन के अगुआओं’ में सक्रिय रूप से शामिल रहे हैं।

Read More
Books by this Author
Back to Top