Asamanya Vyavahar Ki Manogatiki

Author: J. F. Brown
Translator: Shobhana Shah
As low as ₹1,100.75 Regular Price ₹1,295.00
You Save 15%
In stock
Only %1 left
SKU
Asamanya Vyavahar Ki Manogatiki
- +

जे.एफ. ब्राउन द्वारा लिखी बहुचर्चित पुस्तक ‘द साइकोडायनैमिक्स ऑफ एबनॉर्मल बिहेवियर’ का पहला संस्करण 1940 में प्रकाशित हुआ था। तब से अब तक यह पुस्तक विशिष्ट बनी हुई है। एक बुनियादी पाठ्य पुस्तक के रूप में इसे कालजयी कृति का महत्त्व प्राप्त है। ‘असामान्य व्यवहार की मनोगतिकी’ इसी पुस्तक का हिन्दी अनुवाद है। विषय की अधिकारी विद्वान डॉ. शोभना शाह ने अनुवाद करते हुए पारिभाषिक शब्दावली, तकनीकी विवरण और जटिल विवेचन की बहुलता के बाद भी सुगमता, स्पष्टता एवं सम्प्रेषणीयता का ध्यान रखा है। अनुवादक डॉ. शोभना शाह पुस्तक के महत्त्व को इन शब्दों में रेखांकित करती हैं, ‘‘यह पुस्तक फ्रायड के मनोविश्लेषण सिद्धान्त के आधार पर मानव मन की सूक्ष्म परतों को खोलती है और मानव विकास की विविध मनोगत्यात्मक अवस्थाओं की व्याख्या बड़े सरल और सुग्राही शब्दों में करती है। इस दृष्टि से यह एक अद्वितीय कृति है।

‘‘यद्यपि इस पुस्तक के बाद अनेक पुस्तकें लिखी गईं परन्तु इस पुस्तक का अपना विशिष्ट स्थान है। इसमें विविध असामान्यताओं की आधारभूत व्याख्या बड़े विश्वसनीय तरीके से सरल शब्दों में की गई है। इसे संभवतया असामान्य मानव व्यवहार पर बाद में लिखे गए साहित्य की दिशा-निर्देशक कहा जा सकता है।’’

अनेक रूपों में एक महत्त्वपूर्ण पुस्तक।

More Information
Language Hindi
Format Hard Back
Publication Year 2012
Edition Year 2022, Ed. 2nd
Pages 536p
Translator Shobhana Shah
Editor Not Selected
Publisher Rajkamal Prakashan
Dimensions 22 X 14.5 X 3
Write Your Own Review
You're reviewing:Asamanya Vyavahar Ki Manogatiki
Your Rating

Author: J. F. Brown

जे.एफ. ब्राउन

जन्म : प्रसिद्ध मनोचिकित्सक ब्राउन का जन्म डेनवेर (कोलोराडो) में 3 अगस्त, 1902 में हुआ।

शिक्षा : 1925 में येल यूनिवर्सिटी से स्नातक करने के बाद इन्होंने आगे की पढ़ाई बर्लिन यूनिवर्सिटी से की और वहाँ पढ़ते हुए वे ‘ग्रेस्टाल्ट थ्योरी’ से बहुत प्रभावित हुए। अमेरिका वापसी के बाद इन्होंने मनोविज्ञान विषय में येल यूनिवर्सिटी से पी-एच.डी. की।

कोलोराडो यूनिवर्सिटी एवं कन्सास यूनिवर्सिटी में ये प्रोफेसर के पद पर रहे। 1939 में मैंनिनजर क्लीनिक में पहले मुख्य मनोवैज्ञानिक के पद पर आसीन हुए।

1945 से 1959 तक कैलिफोर्निया में एक मनोचिकित्सक के रूप में काम करते रहे।

निधन : 1970, बीयोमोंट (कैलिफोर्निया)।

Read More
Books by this Author
Back to Top