Gandhi Aur Akathaniya : Satya Ke Sath Unka Antim Prayog

Translator: Madan Soni
As low as ₹225.00 Regular Price ₹250.00
You Save 10%
In stock
Only %1 left
SKU
Gandhi Aur Akathaniya : Satya Ke Sath Unka Antim Prayog
- +

“इतिहास जब-तब जीवन की शक्तियों और मृत्यु की शक्तियों के बीच ऐसे संघर्षों का साक्षी बनता है जहाँ एक ओर, मृत्यु की शक्ति की हर पराजय असत्य पर सत्य की विजय में आस्था को बल प्रदान करती है तो दूसरी ओर, असत्य की हर कामयाबी में मनुष्यता के सम्पूर्ण विनाश की सम्भावना निहित होती है। अहिंसा में गाँधी की आस्था और उनके हत्यारों की पथभ्रष्ट विचारधारा पर आधारित जेम्स डॅगलॅस की यह गहन शोधपरक, छोटी-सी अद्भुत कृति उन दो परस्पर विरोधी फ़लसफ़ों की एक वाग्मितापूर्ण कहानी है जिनका सामना आज मानव-जाति कर रही है—एक ऐसी कहानी जो हमें ठहरकर सोचने के लिए विवश करती है।”        —नारायण देसाई

More Information
Language Hindi
Format Hard Back, Paper Back
Publication Year 2020
Edition Year 2020, Ed. 1st
Pages 213p
Translator Madan Soni
Editor Not Selected
Publisher Rajkamal Prakashan
Dimensions 22 X 14.5 X 2
Write Your Own Review
You're reviewing:Gandhi Aur Akathaniya : Satya Ke Sath Unka Antim Prayog
Your Rating
James W. Douglass

Author: James W. Douglass

जेम्स डब्ल्यू. डॅगलॅस

अध्येता और शान्ति कार्यकर्ता जेम्स डब्ल्यू. डॅगलॅस ने अनेक पुस्तकें लिखी हैं जिनमें ‘जेएफ़के एण्ड द अनस्पीकेबिल : व्हाई ही डाइड एंड व्हाई इट मैटर्स’ शामिल है, जो इस विषय पर लिखी गई एक सबसे महत्त्वपूर्ण पुस्तक के रूप में सराही गई है। वे बिरमिंघम, अलबामा में रहते हैं।

Read More
Books by this Author
Back to Top