Vayam Rakshamah-Paper Back

Special Price ₹292.50 Regular Price ₹325.00
You Save 10%
ISBN:9789390625369
In stock
SKU
9789390625369
- +

वयं रक्षाम: प्रागैतिहासिक अतीत की कृति है। इसके कथानक के मूलाधार राक्षसराज रावण तथा महापुरुष राम हैं।

‘‘इस उपन्यास में प्राग्वेदकालीन नर, नाग, देव, दैत्य-दानव, आर्य, अनार्य आदि विविध नृवंशों के जीवन के वे विस्मृत-पुरातन रेखाचित्र हैं, जिन्हें धर्म के रंगीन शीशे में देखकर सारे संसार ने अन्तरिक्ष का देवता मान लिया था। मैं इस उपन्यास में उन्हें नर-रूप में आपके समक्ष उपस्थित करने का साहस कर रहा हूँ। आज तक कभी मनुष्य की वाणी से न सुनी गयी बातें, मैं आपको सुनाने पर आमादा हूँ।...उपन्यास में मेरे अपने जीवन-भर के अध्ययन का सार है...’’

आचार्य चतुरसेन शास्त्री

More Information
Language English
Format Paper Back
Publication Year 2021
Edition Year 2021, Ed. 1st
Pages 407p
Price ₹325.00
Translator Not Selected
Editor Not Selected
Publisher Lokbharti Prakashan
Dimensions 21.5 X 14 X 2
Write Your Own Review
You're reviewing:Vayam Rakshamah-Paper Back
Your Rating
Ashutosh Rai

Author: Ashutosh Rai

आशुतोष राय

जन्म : 18 फरवरी, 1976; ग्राम—पकड़ीखुर्द, पोस्ट—पकड़ी बुजुर्ग, मऊ, यू.पी.
शिक्षा : एम.ए. (हिन्दी ), दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय, गोरखपुर और
पीएच.डी. काशी विद्यापीठ, वाराणसी से।

कृति : ‘नागार्जुन का गद्य-साहित्य’।

 

Read More
Books by this Author
Back to Top