Pakistani Aurat : Ajmayish Ki Aadhi Sadi

Author: Zaheda Hina
Translator: Tahira Parveen
Editor: Tahira Parveen
As low as ₹90.00 Regular Price ₹100.00
You Save 10%
In stock
Only %1 left
SKU
Pakistani Aurat : Ajmayish Ki Aadhi Sadi
- +

प्रस्तुत पुस्तक में जाहेदा हिना ने पाकिस्तान में औरतों की दशा-दिशा का प्रामाणिक विवरण दिया है। हमारे एशियाई मुल्कों में रंग-भेद, नस्ल-भेद आदि की समस्याओं पर जिस तरह मिलकर सोचने की प्रक्रिया शुरू हुई, उसके परिणामस्वरूप बहुत परिवर्तन आया है। लेकिन औरत की ज़िन्दगी के प्रति जो दृष्टि रही है, उसमें अपेक्षाकृत अभी वांछित परिवर्तन ने गति नहीं पकड़ी है। हिन्दुस्तान और पाकिस्तान, दोनों मुल्कों की स्त्रियों को यदि समान रूप से चेतनावान बनाया जाए तो यह भी दोनों मुल्कों को नज़दीक लाने की एक सार्थक कोशिश साबित हो सकती है। इसलिए डॉ. ताहिरा परवीन ने जाहेदा हिना की किताब का हिन्दी में यह जो अनुवाद किया है, उससे हमारा हिन्दी समाज यह जान सकेगा कि औरतों के प्रति नज़रिए के मामले में दोनों देशों की दशा एक-सी है। यह किताब हिन्दुस्तान और पाकिस्तान की औरतों को मिलकर अपने आज़ाद वजूद के प्रति जागरूक बनाने के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी।

More Information
Language Hindi
Format Paper Back
Publication Year 2019
Edition Year 2019, Ed. 1st
Pages 72p
Translator Tahira Parveen
Editor Tahira Parveen
Publisher Lokbharti Prakashan
Dimensions 21.5 X 13.5 X 0.5
Write Your Own Review
You're reviewing:Pakistani Aurat : Ajmayish Ki Aadhi Sadi
Your Rating

Author: Zaheda Hina

जाहेदा हिना

जन्म : सासाराम, बिहार।

शिक्षा : कराची विश्वविद्यालय, पाकिस्तान।

भारत-पकिस्तान विभाजन के बाद पाकिस्तान में पली-बढीं ज़ाहिदा उर्दू की मशहूर कथाकार

और स्तम्‍भकार रहीं। ‘डेली जंग’, ‘डेली एक्सप्रेस’ जैसे दैनिक से जुड़ी रहीं। उन्होंने रेडियो

पाकिस्तान और बीबीसी उर्दू के साथ भी कार्य किया। प्रसिद्ध हिन्दी अख़बार ‘दैनिक भास्कर’ के ‘रसरंग’ के लिए लिखा जानेवाला उनका साप्ताहिक स्तम्भ ‘पाकिस्तान डायरी’ काफ़ी मशहूर रहा।

प्रमुख कृतियाँ : ‘क़ैदी साँस लेते हैं’, ‘तितलियाँ ढूँढ़ने वाली’, ‘रश्क-ए-बिस्मिल है’, ‘राह में अजल है’ (कहानी-संग्रह); ‘ना जुनून रहा ना परी रही’, ‘दर्द का शज़र’, ‘दर्द-ए-असोब’ (उपन्यास); ‘ज़र्द पत्तों का वन’ (टीवी ड्रामा); ‘द हाउस ऑफ़ लोनलीनेस’ (कहानियों का अंग्रेज़ी अनुवाद)। मशहूर शायर फ़ैज़ अहमद ‘फ़ैज़’, समीना रहमान और मोहम्मद उमर मेमन ने उनकी किताबों के अंग्रेज़ी अनुवाद किए हैं।

सम्मान : भारत के राष्ट्रपति द्वारा ‘सार्क साहित्य सम्मान’, ‘फ़ैज़ सम्मान’, ‘लिटरेरी परफ़ॉर्मेंस अवार्ड’, ‘सग़ीर सिद्दीकी अदबी सम्मान’, ‘के.पी. सम्मान’, ‘सिन्‍ध स्पीकर सम्मान’। पाकिस्तान में सैनिक शासन के ख़िलाफ़ अपना विद्रोह दर्ज करते हुए पाकिस्तान के महत्‍त्‍वपूर्ण प्रेसिडेंशियल सम्मान ‘प्राइड ऑफ़ परफ़ॉर्मेंस’ को अस्वीकार किया।

Read More
Books by this Author
New Releases
Back to Top