Bevkufi Mein Samajhadari

As low as ₹89.10 Regular Price ₹99.00
You Save 10%
In stock
Only %1 left
SKU
Bevkufi Mein Samajhadari
- +

मुल्ला नसीरुद्दीन एक दन्तकथा भी है, एक नायक भी और एक साधारण पात्र भी। लेकिन सबसे पहले एक साधारण मनुष्य जो साधारणता की तमाम ख़ूबियों-ख़ामियों के साथ बेवकूफ़ी और समझदारी के सब बँटवारों को छिन्न-भिन्न करते हुए हमें एक ऐसे साथी के रूप में मिलता है जो जीवन की हर स्थिति में हमारे साथ खड़ा हुआ है। सदियों से मुल्ला हमारे साथ हैं, वह गुदगुदाते हैं, चौंकाते हैं, शरारत करते हैं और शिक्षा भी देते हैं। ऐसा कोई नहीं जो मुल्ला की कमियों को पढ़ना-सुनना न चाहे। उल्लेखनीय यह है कि मुल्ला नसीरुद्दीन की कहानियाँ सिर्फ़ चुटकुले नहीं हैं, उनका एक सामाजिक परिप्रेक्ष्य है, एक वातावरण है, और सबसे ऊपर है मानव-व्यवहार की गहरी समझ और उसका अंकन।

इस पुस्तक के उनके कुछ ऐसे ही किस्सों को संकलित किया गया है जो न सिर्फ़ हमें ठहाका लगाने को बाध्य करते हैं, बल्कि विभिन्न जीवन-स्थितियों पर एक नई व्याख्या भी प्रस्तुत करते हैं।

More Information
Language Hindi
Format Paper Back
Publication Year 2008
Edition Year 2022, Ed. 5th
Pages 72p
Translator Not Selected
Editor Not Selected
Publisher Radhakrishna Prakashan
Dimensions 21.5 X 13.5 X 0.5
Write Your Own Review
You're reviewing:Bevkufi Mein Samajhadari
Your Rating

Author: Mulla Nasaruddin

मुल्ला नसीरुद्दीन

कहा जाता है कि उनका जन्म तुर्की में हुआ था। उन्हें नसीरुद्दीन होद्जा, नसीरुद्दीन हूजा के

नाम से भी जाना जाता है। मुल्ला नसीरुद्दीन को उनके हास्य-व्यंग्य से जुड़ी मज़ेदार

कहानियों के लिए तो याद किया ही जाता है, वे एक दार्शनिक, सूफ़ी और बेहद बुद्धिमान

व्यक्ति-पात्र के तौर पर भी मशहूर हैं।

Read More
Books by this Author
New Releases
Back to Top