Author
Prahlad Agarwal

Prahlad Agarwal

2 Books

प्रह्लाद अग्रवाल

यायावर, आवारा मिज़ाज। संगीत, साहित्य और सिनेमा से गहरी आशिक़ी। पिछले तीन दशकों में बहुआयामी लेखन। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में निरन्तर प्रकाशन।

प्रकाशित पुस्तकें : ‘हिन्दी कहानी : सातवाँ दशक’ (आलोचना); ‘तानाशाह’ (उपन्यास); ‘राजकपूर : आधी हक़ीक़त आधा फ़साना’, ‘प्यासा : चिर अतृप्त गुरुदत्त’, ‘कवि शैलेन्द्र : ज़िन्दगी की जीत में यक़ीन’, ‘उत्ताल उमंग : सुभाष घई की फ़िल्मकला’, ‘बाज़ार के बाजीगर : इक्कीसवीं सदी का सिनेमा’, ‘ओ रे माँझी... : बिमलराय का सिनेमा’, ‘जुग-जुग जिए मुन्नाभाई : छवियों का मायाजाल’, ‘रेशमी ख़्वाबों की धूप-छाँव : यश चोपड़ा का सिनेमा’, ‘महाबाज़ार के महानायक’ (कविता/सिनेमा)।

‘प्रगतिशील वसुधा’ के बहुचर्चित फ़िल्म विशेषांक ‘हिन्दी सिनेमा : बीसवीं से इक्कीसवीं सदी तक’ का सम्पादन एवं कई पुस्तकों के सहयोगी लेखक।

शासकीय स्वशासी महाविद्यालय में प्राध्यापक-पद से सेवानिवृत्त।

Back to Top