Author
Bhanushankar Mehta

Bhanushankar Mehta

0 Books

भानुशंकर मेहता

जन्म : 25 मई, 1921; जौनपुर (उ.प्र.)।

भाषा-ज्ञान : हिन्दी, अंग्रेज़ी, गुजराती।

शिक्षा : बी.एससी., एम.बी.बी.एस. (लखनऊ)।

कार्य : वाराणासी के सुप्रतिष्ठित चिकित्सक (पैथोलोजिस्ट) रहे।

रूचि-वृत्ति : गहरी सांस्कृतिक समझ, कुशल निदेशक, अभिनेता, सशक्त लेखन, चिकित्सा-शास्त्र के साथ-साथ अनेक स्तरीय साहित्यिक पुस्तकों/पत्रों का प्रकाशन, समर्पित रंग-अध्येता, मर्मज्ञ एवं देश में प्रचलित ‘रामलीला-परम्परा’ के मर्मज्ञ एवं आधिकारिक विद्वान।

विशिष्ट समितियों की सदस्यता : उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी में छह वर्षों तक उपाध्यक्ष, आग़ा हश्र अकादमी के अध्यक्ष, राष्ट्रीय रामलीला मेला, म.प्र. तथा अनेक सांस्कृतिक संस्थाओं से सम्बद्ध रहे।

अन्य सामाजिक सरोकार : रामकथा और रामलीला। काशी में अनेक वर्ष सन्त छोटे जी महाराज के मानस प्रतियोगिता सम्मेलन का संचालन तथा अनेक सुख्यात व्यसन के प्रवचन सुनने का अवसर। मध्य प्रदेश आदिवासी लोक कला परिषद् द्वारा आयोजित राष्ट्रीय रामलीला मेले के आरम्भ से संयोजक समिति के सदस्य। चित्रकूट रामलीला मेले में सक्रिय सहभागिता। मानस संगम, कानपुर द्वारा सम्मान। वाराणासी, लखनऊ, कोलकाता, वड़ोदरा, सूरत, अहमदाबाद आदि नगरों में रामलीला पर व्याख्यान। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की पत्रिका ‘आपका स्वास्थ्य’ के संस्थापक और तीस वर्षों तक सम्पादन। विविध विषयों पर लेख और अनेक पुस्तकें प्रकाशित।

निधन : 3 अक्टूबर, 2015

All Bhanushankar Mehta Books
Not found
Back to Top