Author
Anupam Mishra

Anupam Mishra

3 Books

अनुपम मिश्र

जन्‍म : 5 जून 1948; जन्म-स्थान : वर्धा (महाराष्ट्र)।

पिता : स्वर्गीय श्री भवानीप्रसाद मिश्र

शिक्षा : एम.ए.। दक्षता : फ़ोटोग्राफ़ी एवं लेखन।

वर्ष 1977 में पर्यावरण कक्ष के संचालक के रूप में ‘गाँधी शान्ति प्रतिष्ठान’ से जुड़े। पारम्परिक जल संरक्षण के लिए वर्ष 1992 में ‘के.के. बिड़ला फ़ेलोशिप’।

कृतियाँ : छोटी-बड़ी 20 किताबें, जिनमें प्रमुख हैं—‘आज भी खरे हैं तालाब’, ‘राजस्थान की रजत बूँदें’, ‘साफ माथे का समाज’, ‘महासागर से मिलने की शिक्षा’, ‘अच्छे विचारों का अकाल’।

‘आज भी खरे हैं तालाब’ और ‘राजस्थान की रजत बूँदे’ का समाज ने अच्छा स्वागत किया है। ‘आज भी खरे हैं तालाब’ के उर्दू, बांग्‍ला, मराठी, गुजराती, पंजाबी और अंग्रेज़ी तथा ‘राजस्थान की रजत बूँदें’ के फ़्रेंच, अंग्रेज़ी, बांग्‍ला अनुवाद भी प्रकाशित हुए हैं। इनके अलावा अकाल की परिस्थितियों में देश के 11 आकाशवाणी केन्द्रों ने इन पुस्तकों को पूरा का पूरा प्रसारित किया है।

सम्मान : ‘इन्दिरा गाँधी वृक्षमित्र पुरस्कार’, ‘चन्द्रशेखर आज़ाद राष्ट्रीय पुरस्कार’, ‘जमनालाल बजाज पुरस्कार’, ‘वैद सम्मान’, दिल्ली का ‘हिन्दी अकादेमी सम्मान’।

निधन : 19 दिसम्बर, 2016

Back to Top