Author

Nemichandra Jain

0 Books

नेमिचन्‍द्र जैन 

जन्म : 16 अगस्त, 1919 (आगरा)।

शिक्षा : एम.ए. (अंग्रेज़ी)।

1959-76 तक राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में वरिष्ठ प्राध्यापक।

1976-82 तक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के कला अनुशीलन केन्द्र में फ़ेलो एवं प्रभारी।

रंगमंच की विख्यात पत्रिका ‘नटरंग’ के संस्थापक-सम्पादक एवं नटरंग प्रतिष्ठान के स्थापक अध्यक्ष। ‘पद्मश्री’ अलंकरण, संगीत नाटक अकादमी द्वारा ‘राष्ट्रीय सम्मान’ तथा शलाका सम्मान से विभूषित।

प्रमुख कृतियाँ : ‘तार-सप्तक’, ‘एकान्त’ (कविता); ‘अधूरे साक्षात्कार’, ‘रंगदर्शन’, ‘बदलते परिप्रेक्ष्य’, ‘जनांतिक’, ‘पाया पत्र तुम्हारा’, ‘भारतीय नाट्य परम्परा’, ‘दृश्य अदृश्य’, ‘इंडियन थिएटर’, ‘रंग परम्परा’, ‘रंगकर्म की भाषा’, ‘तीसरा पाठ’ (आलोचना); ‘मुक्तिबोध रचनावली’ (6 खंडों का), ‘आधुनिक हिन्दी नाटक और रंगमंच’, ‘नए हिन्दी लघु नाटक’, ‘मोहन राकेश के सम्पूर्ण नाटक’ (सम्पादन)।

विभिन्न विधाओं की कई कृतियों का अनुवाद। रूस, अमरीका, इंग्लैंड, जर्मनी, फ़्रांस आदि देशों की यात्राएँ।

निधन : 2005

All Nemichandra Jain Books
Not found
Back to Top