Author
Suman Jain

Suman Jain

1 Books

प्रो. सुमन जैन

अनेक पुस्तकों की लेखिका प्रो. सुमन जैन की महत्त्वपूर्ण प्रकाशित रचनाएँ हैं—‘हिन्दी साहित्य की अन्तर्यात्रा : गोरखनाथ से नागार्जुन’, ‘महामना के दस्तावेज़’, ‘गाँधी विचार और साहित्य’, ‘छायावादोत्तर हिन्दी कविता के

रचनात्मक सरोकार’, ‘आचार्य विनोबा की साहित्य-दृष्टि’ (मध्यकालीन सन्‍तों के परिप्रेक्ष्य में), ‘दलित विमर्श : हिन्दी एवं भारतीय अंग्रेज़ी साहित्य के सन्दर्भ में’, ‘शिक्षा और शिक्षकों की रचनाधर्मिता’, ‘बदले नज़र नज़ारा बदले’, ‘सामुदायिक श्रीवृद्धि की रचनात्मक पहल’, ‘जय जगत की चर्चा-अर्चा’, ‘मूल्यपरक शिक्षा’, ‘आचार्य राममूर्ति’

(पुस्तिका), ‘हिन्दी विश्व साहित्य कोश : खण्ड-2’ (सह-सम्पादन)। इसके अलावा लगभग 160 लेख, शोध-पत्रों का प्रकाशन तथा पत्र-पत्रिका, स्मारिका सम्पादन।

सम्प्रति : प्रोफ़ेसर, हिन्दी विभाग, महिला महाविद्यालय, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी।

 

Back to Top