• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Bhartiya Vanya Praniyon ke Sanrakshit Kshetro ka VIshvkosh

Bhartiya Vanya Praniyon ke Sanrakshit Kshetro ka VIshvkosh

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 1,200

Special Price Rs. 1,080

10%

  • Pages: 580P
  • Year: 2013
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  Hindi
  • Publisher:  Rajkamal Prakashan
  • ISBN 13: 9788126724352
  •  
    अधोलिखित 9 प्रमुख विशेषताओं से युक्त प्रस्तुत विश्वकोश भारतीय संरक्षित क्षेत्रों के पर्यावरण एवं प्राणिजात के सम्बन्ध में सम्पूर्ण जानकारी देने वाला न केवल हिन्दी वरन् अन्य देशी भाषाओंमें भी प्रकाशित अब तक का सबसे अधिक वैज्ञानिक सन्दर्भ ग्रन्थ है । विश्वकोश की नौ प्रमुख विशेषताएँ : 1. संरक्षित क्षेत्रों के माध्यम से भारतीय पर्यावरण एवं प्राणिजात की सर्वागीण प्रस्तुति करने वाला भारतीय परम्परा एवं हिन्दी भाषा मेंलिखा गया भारतीय भाषाओं का अनूठा ग्रन्थ । 2. विश्वकोश की वैश्विक अवधारणा के अनुकूल ग्रन्थ का संयोजन एवं विषयवस्तु की प्रस्तुति । 3. विश्वकोश में अपेक्षित 'जानकारी की संपूर्णता' का पूरा प्रयास, सभी वर्गोंके संरक्षित क्षेत्रों अभयारणों, राष्ट्रीय उद्यान, टाइगर रिजर्व, बायोस्फियर रिजर्व, रामसर साइट्‌स इत्यादि) में से प्रतिनिधि संरक्षित क्षेत्रोंका न केवल उल्लेख अपितु उनकी विशिष्टताओं का विवेचन भी । 4. संरक्षित क्षेत्रों के सभी वैज्ञानिक पक्षों का सरल सुबोध भाषा में विवेचन । विश्वकोश में विज्ञानों के ये तथ्य संकलित हैं 1. इकोलाजी पारिस्थितिकी, 2. इथोलाजी (व्यवहार विज्ञान), 3. वर्गिकी (टैक्सानामी), 4. -लताजी (जीवविज्ञान), 5. आर्निथोलाजी (पक्षीविज्ञान), 6. ज्याग्राफी (भूगोल), 7. जियोलाजी (भूगर्भ विज्ञान), 8. पेलिअन्टोलाजी (पूरा विज्ञान-जीवाश्म विज्ञान तथा 9. बाटनी (वनस्पति विज्ञान) । 5. संरक्षित क्षेत्रों को राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में समझने के लिए आवश्यक मानचित्र दिए गए हैं । 6. संरक्षित क्षेत्रों के इतिहास और वर्तमान की विस्तृत जानकारियाँ विश्वकोश में संकलित हैं । आवश्यक स्थलों पर सन्दर्भ ग्रन्थों का भी उल्लेख है । 7. विश्वकोश में संरक्षित क्षेत्रों की समकालीन घटनाओं और स्थिति को निरपेक्षता से प्रस्तुत किया गया है । तथ्यों की पुष्टि के लिए स्रोत को उद्धृत किया गया है । अंग्रेजी भाषा के स्रोतों को उद्धृत किया गया है । 8. विश्वकोश में पूरी तरह से हिन्दी भाषा का प्रयोग किया गया है अन्य भाषाएँ प्रमुख पाठ से अलग हाशिये पर या परिशिष्ट में ही देखी जा सकती हैं । परिशिष्ट में आधारभूत अध्ययन सामग्री की क्रमबद्ध सूचियां हैं । 9. विश्वकोश में प्रारम्भ से अन्त तक पठनीयता को बनाए रखा गया है । विश्वकोश की अनेक टिप्पणियाँ एवं आलेख स्वतंत्र रूप से पठनीय हैं ।

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Vishvkumar Tiwari

    Vishvkumar

    loading...
      • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
      • Funda An Imprint of Radhakrishna
      • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144