• (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Unity And Strength

Unity And Strength

Availability: In stock

-
+

Regular Price: Rs. 695

Special Price Rs. 626

10%

  • Pages: 286
  • Year: 2017, 1st Ed.
  • Binding:  Hardbound
  • Language:  English
  • Publisher:  Banyan Tree Books
  • ISBN 13: 9788190540162
  •  
    Unity And Strength is a novel inspired by the life of Sardar Vallabhbhai Patel. The Architect of Independent India. His qualities of ardent patriotism, unflinching courage and determination, sharp foresight and honest hard work have influenced millions of people during and after the freedom struggle. The present generation of Indians looks at his contribution with much awe and respect. Sardar Patel is a great source of strength and an idol of national unity. The novel describes how inspired by his sacrifice and dedication, common families came forward to follow him int he freedom struggle. It also narrates how in the independent India, the great leader unified the princely states in an astonishingly efficient manner within an unbelievable short time. Drawing inspiration from his life and thoughts, the novel indicates what we can do to fully realise his unfulfilled dreams of making a prosperous and strong India.

    Customer Reviews

    There are no customer reviews yet.

    Write Your Own Review

    Amrendra Narayan

    ग्राम मटुकपुर, जिला भोजपुर (बिहार) में 21 नवंबर, 1945 को जन्म। साइंस कॉलेज और बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के छात्र। 1966 में पटना विश्वविद्यालय से विद्युत् इंजीनियरिंग के स्नातक। कैरियर की शुरुआत धनबाद और राँची पॉलीटेक्निक में सहायक प्राध्यापक के रूप में।

    अमरेंद्र नारायण उन थोड़े साहित्यकारों में हैं जो अभियंत्रण के क्षेत्र में कार्यरत होते हुए भी साहित्य-सेवा में सक्रिय हैं। भारतीय दूरसंचार सेवा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी के रूप में अमरेंद्र नारायण कई महत्त्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। वे जुलाई 1990 से एशिया एवं प्रशांत क्षेत्र के दूरसंचार संगठन ‘एशिया पैसिफिक टेलीकॉम्युनिटी’ (ए पी टी) के निदेशक प्रायोजना विकास (डाइरेक्टर प्रोजेक्ट डेवेलपमेंट) के पद पर कार्यरत रहे। नवंबर 1998 में ए पी टी के सदस्य देशों द्वारा वे डिप्टी एक्स्क्युटिव डाइरेक्टर के पद पर निर्वाचित किए गए। इस पद पर निर्वाचित होने वाले वे पहले भारतीय हैं।

    अमरेंद्र नारायण विश्व बैंक, संयुक्त राष्ट्र संघ से संबंधित संगठनों एवं अन्य कई अंतर्राष्ट्रीय संगठनों द्वारा आयोजित सम्मेलनों में महत्त्वपूर्ण योगदान कर चुके हैं। दूरसंचार क्षेत्र के प्रतिष्ठित संदर्भ ग्रंथ ‘ए पी टी इयर बुक’ एवं पत्रिका ‘ए पी टी जरनल’ तथा भारतीय दूरसंचार पत्रिका (द इंडियन जरनल ऑफ टेलीकॉम्युनिकेशंस) के संपादन के साथ-साथ इनकी कई कविताएँ विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित एवं आकाशवाणी से प्रसारित होकर पाठकों और श्रोताओं में लोकप्रिय हो चुकी हैं।

     

    • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
    • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
    • Funda An Imprint of Radhakrishna
    • Korak An Imprint of Radhakrishna
    Location

    Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
    Daryaganj, New Delhi-02

    Mail to: info@rajkamalprakashan.com

    Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

    Fax: +91 11 2327 8144