Skip to Main Content »

  • (011) 23274463
  • Help
INR
 
Shopping Cart (0 item)
My Cart

You have no items in your shopping cart.

You're currently on:

Frequently Asked Questions

Why would I choose Rajkamal Prakashan?
Rajkamal Prakashan Pvt. Ltd. is a traditional publication house and makes publishing your book easy and affordable. You can rest assured, knowing your manuscript is in experienced, professional hands, guaranteeing an attractive book of the highest quality. Our innovative technology allows you to purchase copies in any quantity, at anytime, yet you are never obligated to purchase a single copy, and remember, you get to keep the rights to your own book.

How can I purchase a book from rajkamalprakashan.com?
rajkamalprakashan.com is an user freindly website and to place items into your shopping cart, please use our search box to find each title in which you're interested, and click on the Add to Cart button. The number of books ordered and subtotaled cost will appear in the upper right hand corner of your screen. To complete your purchase, simply click on the Proceed to Checkout button, and complete the easy four-step ordering process.

How may I pay for the books I purchase?
We accept cheques, money orders, and all major credit cards. Payment must be made when your order is placed. We will directly charge you the exact shipping costs.

Is it safe to pay through Credit Card from your website ?
rajkamalprakashan.com uses SSL security for all online transactions; all personal information, including credit card number, name, and address is encrypted and cannot be read as it travels over the internet. An order confirmation will be sent to the e-mail address you provide.

How do I purchase a quantity of your books at discount? 
To purchase a quantity of books, contact our Sales team.

How can I check the status of my order? 
To check the status of your order,

News and Events
  • गोपेश्वर सिंह को 'डॉ. रामविलास शर्मा आलोचना सम्मान'

    दिल्ली : वरिष्ठ आलोचक गोपेश्वर सिंह को  'डॉ. रामविलास शर्मा आलोचना सम्मान', 2015 से सम्मानित किया जाएगा। यह सूचना कवि-लेखक नरेन्द्र पुंडरिक के हवाले से उनकी फेसबुक वाल से प्राप्त हुई है।

    Read more

  • कुसुम खेमानी को 'कुसुमांजलि साहित्य सम्मान’

    दिल्ली : 1 अगस्त, 2016 को इंडिया इंटरनेशनल सेंटर, नई दिल्ली में सुपरिचित कथाकार कुसुम खेमानी को राजकमल प्रकाशन से प्रकाशित उनके उपन्यास 'लावण्यदेवी’ के लिए कुसुमांजलि फाउंडेशन द्वारा 'कुसुमांजलि साहित्य सम्मान’, 2016 से सम्मानित किया गया। यह सम्मान उन्हें 'भारतीय सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद्’ के अध्यक्ष प्रो. लोकेश चन्द्र ने प्रदान किया।

    Read more

  • रघुवीर चौधरी 'ज्ञानपीठ पुरस्कार' से सम्मानित

    दिल्ली : गत माह एक गरिमामय समारोह में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने गुजराती के प्रख्यात लेखक रघुवीर चौधरी को 51वें ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया। 1938 में जन्मे रघुवीर चौधरी को यह पुरस्कार वर्ष 2015 के लिए दिया गया है।

     

    Read more

  • नहीं रहे नीलाभ अश्क

    दिल्ली : हिन्दी के मशहूर कवि, पत्रकार और बेहतरीन अनुवादक नीलाभ अश्क का 23 जुलाई, 2016 को दिल्ली के बुराड़ी स्थित घर पर निधन हो गया। 70 वर्षीय नीलाभ बीबीसी की विदेश प्रसारण सेवा में बतौर प्रोड्यूसर काम कर चुके थे और उन्होंने शेक्सपियर, ब्रेख्त और लोर्का के नाटकों के हिन्दी में अविस्मरणीय अनुवाद किए थे। अरुंधति राय के बुकर विजेता उपन्यास 'द गॉड आफ स्मॉल थिंग्स' का हिन्दी अनुवाद 'मामूली चीजों का देवता' नाम से उन्होंने ही किया था।

    Read more

  • 'जो देश गांधी को भूल सकता है वह किसी को भी भूल सकता है...'—नामवर सिंह

    दिल्ली : प्रभाष जोशी के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में अध्यक्षता कर रहे प्रख्यात आलोचक डा. नामवर सिंह ने प्रभाष जी के साथ अपने संबंधों की चर्चा करते हुए कहा कि अलग पेशे और विचार के बावजूद कब किस रूप में प्रभाष जी से लगाव हो गया और कब मैं उस परिवार का सदस्य बन गया पता ही नहीं चला। उन्होंने कहा कि जो देश गांधी को भूल सकता है वह किसी को भी भूल सकता है। 

    Read more

  • चित्रकार सैयद हैदर रज़ा का निधन

    दिल्ली : रंग, तूलिका, रेखाओं के ज्यामितीय संयोजन से चमत्कार करनेवाले जाने-माने चित्रकार सैयद हैदर रज़ा नहीं रहे। 94 साल की उम्र में 23 जुलाई, 2016 को दिल्ली में उनका निधन हुआ।

    Read more

  • 12वें अंतरराष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन में सम्मानित किए गए लेखक

    गुवाहाटी : गत माह सृजनगाथा डॉट कॉम द्वारा असम के गुवाहाटी में सम्पन्न 12वें अंतरराष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन में वर्ष 2016 के लिए राधाकृष्ण प्रकाशन और लोकभारती प्रकाशन की दो कृतियों को सम्मानित किया गया।  डॉ. रंजना अरगड़े  की पुस्तक 'भिनसारे में मधुमालती' पर प्रथम 'बाबू मावलीप्रसाद श्रीवास्तव पुरस्कार' और डॉ. सुधाकर अदीब की पुस्तक 'रंग राची' पर प्रथम 'सत्या कुंद्रा स्मृति पुरस्कार' प्रदान किया गया।

    Read more

  • 'संसद में मेरी बात' पुस्तक का लोकार्पण

    समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रवक्ता प्रो. रामगोपाल यादव के 70वें जन्मदिवस समारोह पर दिनांक 29 जून, 2016 को डॉ. लोहिया विधि विश्वविद्यालय, लखनऊ के डॉ. लोहिया सभागार में राजकमल प्रकाशन द्वारा प्रकाशित 'संसद में मेरी बात' पुस्तक का लोकार्पण किया गया।

    Read more

  • 'हैलो चीन' का विमोचन

    नई दिल्ली : चीनी पर्यटन वर्ष के उपलक्ष्य पर 'हैलो चीन' किताब और 'नमस्ते चाइना' डीवीडी का विमोचन होटल ली मेरिडियन में चाइना रेडियो इंटरनेशनल के महानिदेशक वांग कंगन्येन, चीनी दूतावास के मिनिस्टर ल्यू चिनसुंग व अन्य प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने किया। राजकमल प्रकाशन से प्रकाशित 'हैलो चीन' किताब अनिल आज़ाद पांडेय ने लिखी है।

    Read more

  • आर.के. पांडेय की पुस्तक 'प्रबन्धकीय लेखांकन' का लोकार्पण

    इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश  के राज्यपाल राम नाईक द्वारा उत्तर प्रदेश राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय के नए भवन का भूमि-पूजन व शिलान्यास दिनांक 19 अप्रैल, 2016 को किया गया। इसके साथ ही विश्वविद्यालय में प्रबन्ध-तन्त्र डिजिटिलीकरण विषयक कार्यशाला का शुभारम्भ भी किया गया।

    Read more

  • वैभव सिंह को बीसवाँ 'देवीशंकर अवस्थी सम्मान'

    नई दिल्ली : युवा आलोचक वैभव सिंह को उनकी पुस्तक 'भारतीय उपन्यास और आधुनिकता' के लिए बीसवाँ 'देवीशंकर अवस्थी सम्मान' सुप्रसिद्ध आलोचक नामवर सिंह ने प्रदान किया।  उन्हें यह सम्मान 05 अप्रैल, 2016 को नई दिल्ली स्थित साहित्य अकादमी के रवींद्र भवन में आयोजित समारोह में दिया गया।

    Read more

  • मृदुला गर्ग को 'राम मनोहर लोहिया सम्मान'

    नई दिल्ली : 'चित्तकोबरा', 'अनित्य और 'कठगुलाब' जैसे कई उपन्यासों की लब्ध-प्रतिष्ठ रचनाकार मृदुला गर्ग को वर्ष 2015 के लिए उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के 'राम मनोहर लोहिया सम्मान' से सम्मानित किया गया।

    Read more

  • ‘पेचीदा बातों को सरल शब्दों में ढालना ही मेरे लेखन का उद्देश्य’—मालचंद तिवाड़ी

    जयपुर : विगत माह भारतेंदु हरिश्चंद्र संस्थान और राजस्थान डेयरी फेडरेशन के संयुक्त तत्त्वावधान में जयपुर के सरस संकुल सभागार में ‘साहित्य संवाद-4’ के अन्तर्गत जाने- माने कथाकार मालचंद तिवाड़ी से प्रख्यात साहित्यकार पद्मश्री सीपी देवल की बातचीत का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ कथाकार हेतु भारद्वाज ने की। प्रारम्भ में संस्थान के अध्यक्ष ने अतिथियों का स्वागत किया और संचालन किया चर्चित कथाकार चरण सिंह पथिक ने। डेयरी फेडरेशन के महाप्रबन्धक (जनसम्पर्क) विनोद गेरा ने मालचंद और देवल का स्मृति-चिन्ह भेंट कर और शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया। बातचीत के दौरान कथाकार मालचंद तिवाड़ी ने कहा कि दुनिया की सबसे पेचीदा बातों को सरल शब्दों में ढालना ही मेरे लेखन का उद्देश्य है।

    Read more

  • राजेन्द्र श्रीवास्तव को ‘मुंशी प्रेमचंद पुरस्कार’

    प्रतिष्ठित कथाकार राजेन्द्र श्रीवास्तव को महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी के ‘मुंशी प्रेमचंद पुरस्कार’ देने की घोषणा की गई है। यह पुरस्कार राजेन्द्र श्रीवास्तव को राधाकृष्ण प्रकाशन, नई दिल्ली से प्रकाशित उनके कहानी-संग्रह ‘कोई तकली$फ नहीं’ के लिए
    प्रदान किया जाएगा।

    Read more

  • सुधाकर अदीब ‘सत्या कुंद्रा पुरस्कार’ से सम्मानित

    ‘सृजन गाथा डॉट कॉम’ के तत्त्वावधान में बारहवाँ अन्तरराष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन सम्पन्न हुआ जिसमें उपन्यासकार सुधाकर अदीब को उनके हाल ही में लोकभारती प्रकाशन से प्रकाशित मीराँबाई के संघर्ष-यात्रा पर आधारित उपन्यास ‘रंग राची’ को प्रथम ‘सत्या कुंद्रा पुरस्कार’  से सम्मानित किया गया।

    Read more

  • मुक्तिबोध-परम्परा के प्रतिनिधि कवि हैं रावत : ललित सुरजन भगवत रावत स्मृति सम्मान एवं व्याख्यान

    भोपाल : हिन्दी के जन-पक्षधर शीर्षस्थ कवि भगवत रावत की स्मृति में 'मध्यप्रदेश हिन्दी साहित्य सम्मेलन’ द्वारा भोपाल के 'मायाराम सुरजन स्मृति भवन’ में सितम्बर महीने के अन्तिम दिन प्रख्यात पत्रकार, चिन्तक एवं लेखक ललित सुरजन की अध्यक्षता में 'भगवत रावत स्मृति सम्मान एवं व्याख्यान’ का आयोजन किया गया। ललित सुरजन एवं 'म.प्र. हिन्दी साहित्य 

    Read more

  • Sarthak An Imprint of Rajkamal Prakshan
  • Chahak An Imprint of Rajkamal Prakshan
  • Funda An Imprint of Radhakrishna
  • Korak An Imprint of Radhakrishna
Location

Address:1-B, Netaji Subhash Marg,
Daryaganj, New Delhi-02

Mail to: info@rajkamalprakashan.com

Phone: +91 11 2327 4463/2328 8769

Fax: +91 11 2327 8144